Monthly Archives: जुलाई 2011

सत्य के साथ मुलाकात

किसी भी तथ्य या चुनौती को ‘कैसे और क्यों’ या ‘क्या होना चाहिये’ के सहारे के बिना देख्नना सत्य के साथ चौंका देने वाली मुलाकात है। Advertisements

psycho spiritual में प्रकाशित किया गया | 2 टिप्पणियाँ

महान रहस्य

http://www.fundamentalexpressions.com

psycho spiritual में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

सत्य और निश्चितता

http://www.fundamentalexpressions.com

psycho spiritual में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

अच्छे की आशा

आइये कार्य करें और अच्छे की आशा करें। अच्छे की आशा एक अतिरिक्त विचार है जिसमें मन लिप्त होना चाहता है। आइये कार्य करें, कार्य पर पूर्ण ध्यान है। अच्छे की आशा एक भ्रम है, जैसे कि हम अच्छा जानते … पढना जारी रखे

psycho spiritual में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

‘मैं’ कभी भी बंधन(bondage) से बाहर नहीं आ सकता

इस बात को निश्चित तौर पर बिना किसी शंका के जानना, समझना कि ‘मैं’ कभी भी बंधन(bondage) से बाहर नहीं आ सकता, अस्तित्व के रहस्य की कुंजी है। http://www.facebook.com/yvchawla

psycho spiritual में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

भगवान की इच्छा

भगवान की इच्छा का विचार मानव मन द्वारा ही बनाया हुआ है। जब हम बिना प्रतिक्रिया किए कुछ भी करते हैं तो हम अपने से एक हो जाते हैं। दो इच्छाओं का विचार गिर जाता है, एक ही इच्छा रह … पढना जारी रखे

psycho spiritual में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे