रोशनी

मन आध्यत्मिकता के नाम पर दुख और अनिश्चितता को समझने, समाप्त करने या कोई पक्का हल ढूंढने के लिये प्रयत्न करता है।

इसका प्रयत्न, इसकी खोज इस बात पर समाप्त होती है कि यह प्रश्न कहाँ से उठ रहा है, इस विचार के मूल में पहुंच कर यह रुक जाता है।

अचानक रोशनी नज़र आने लगती है।

Fundamental Expressions

 

Advertisements

होने का धरातल

आप हमेशा शांत ही होते हैं सिवाय उस वक्त के जब आप किसी शारीरिक खतरे या दर्द में होते हैं। इस शांति को देखो। यह हमेशा आपके साथ ही होती है। यह ‘होने’ का धरातल है।

Fusion

दुविधा

हम दुविधा में कर्म करते हैं, जैसे कि फल हमें दुविधा से बाहर ले जायेगा।

हम दुविधा में इस तरह प्रतिक्रिया करते हैं, जैसे हम समय के द्वारा(भविष्य में) दुविधा से बाहर आ जायेंगे।

कोई मानसिक दुविधा, समस्या(स्थिर) नहीं है

अध्यात्मिकता का अर्थ है, कि कोई मानसिक दुविधा, समस्या(स्थिर) नहीं है, केवल हर पल भौतिक, शारीरिक और वास्तविक कर्म ही हैं।

 http://www.fundamentalexpressions.com