लेबल

जब आप दुख (कोई भी नापसंदीदगी) को शब्दों- बुरा, गलत का लेबल नहीं लगाते- तो या तो यह रुपांतरित हो जाता है या यह आपको कष्ट देना बंद कर देता है।

’लेबल लगाना और उसको हल करने का आराम’ आपको दुख से बांधे रखता है।

Fusion

Advertisements

बंधन

आप कर्म से बाहर नहीं आ सकते या कर्म से मुक्त नहीं हो सकते।

लेकिन आप ‘कर्म करने की विवशता और परिणाम के द्वारा आराम’ के बंधन से बाहर आ सकते हैं।

अब हर कर्म रचनात्मक है।

 

  Fundamental Expressions

जीवन का स्पंदन

जब आपको कुछ पसंद आता है, आप प्रसन्न होते हैं। जब आपको कुछ नापसंद होता है, आप अप्रसन्न होते हैं। आप इस ‘प्रोग्राम’ से बंधे हुए हैं।

जो आपके साथ हो रहा है, उसके साथ आपकी स्वीकृति, अस्वीकृति या उपेक्षा जीवन की अभिव्यक्ति है, जीवन का स्पंदन है।
आरामदायक विचारों से मन की एक स्थिर अवस्था ढूंढना आपको भ्रम में रखता है, आपसे विवश्ता पूर्वक काम करवाता रहता है।

Y V Chawla

Fusion