Monthly Archives: जनवरी 2013

आसक्ति

किसी वस्तु, कार्य या स्थिति में आपकी आसक्ति, झुकाव इसलिये बढ़ जाता है जब आप किसी और कार्य को विवशता पूर्वक कर रहे होते हैं या आप जो परिस्थिति आपको नापसंद है उसकी बेआरामी से बचना चाहते हो। यह आसक्ति … पढना जारी रखे

psycho spiritual में प्रकाशित किया गया | Tagged , , | टिप्पणी करे

मानसिक बेआरामी

आप किसी व्यक्ति या परिस्थिति के कारण परेशान नहीं होते, बल्कि इसलिये कि आप मानसिक बेआरामी से बचना चाहते हो। यह बचना शिकायत करके, दोष लगा कर, अपने को दोषी मान कर या यह सोच कर कि भविष्य में सब … पढना जारी रखे

psycho spiritual में प्रकाशित किया गया | Tagged , | टिप्पणी करे