अस्तित्व की रहस्मय प्रक्रिया

आपकी ऊर्जा परिणाम, निर्णय, भबिष्य के आराम को पक्का करने में लगी रहती है| जब आप देखते हैं कि यह आराम ही भ्रम है, ऊर्जा पल-पल की गति में एकत्रित हो जाती है| आप अस्तित्व की रहस्मय प्रक्रिया से एक हो जाते हैं|

Y V ChawlaSlide 31

 

Advertisements

भ्रम

मन को इस भ्रम ने पकड़ लिया है कि इसे हमेशा प्रसन्न महसूस करना है, आरामदायक अवस्था में ही रहना है, जैसे कि दुविधा, असमंजस, भय, कोई भी बेआरामी का अनुभव इसका नहीं है| अगर आप मन के इस आग्रह को देख लेते हैं, यह गिर जाता है-मूल ऊर्जा से आपका स्पर्श हो जाता है|

Y V Chawla