कल्पना और वास्तविकता का खेल ही जीवन है

आप सोच सकते हैं, योजना बना सकते हैं, गणनाएं कर सकते हैं| भ्रम के कारण मन परिणाम के बारे में, भविष्य के बारे में संतुष्ट होना चाहता है| इस आराम को पक्का करने का संघर्ष आपकी ऊर्जा को क्षीण करता जाता है| जब आप यह देखते हैं कि यह आराम ही भ्रम है, आपकी कल्पना शक्ति (जो आप चाहते हैं) स्पष्ट हो जाती है, आप देखते हैं कि कल्पना और वास्तविकता का खेल ही जीवन है-यह ही पूर्ण क्षेत्र ‘आप’ है|

http://www.speakingtree.in/public/spiritual-blogs/seekers/science-of-spirituality/living-is-play-between-imagination-and-reality

Advertisements