Monthly Archives: अप्रैल 2015

तनाव, डर या दुविधा – ऊर्जा का एकत्रित होना

जब कोई नापंसदीदा स्थिति सामने आती है-मन उसका सामना करने के लिये ऊर्जा एकत्रित करता है| यह ऊर्जा का एकत्रित होना तनाव, डर या दुविधा के रूप में होता है| फ़िर मन उसके हल होने का आनंद लेता है| मन … पढना जारी रखे

psycho spiritual में प्रकाशित किया गया | Tagged , , , , | टिप्पणी करे