Monthly Archives: जनवरी 2016

असफलता की संभावना की बेआरामी

हम असफलता की संभावना की बेआरामी से बचना चाहते हैं | इस बेआरामी से बचा या इसको हटाया नहीं जा सकता | जब हम इस तथ्य को समाहित कर लेते हैं, हर कार्य होशपूर्वक (authentic) और रचनात्मक होता है| Advertisements

psycho spiritual में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे