Monthly Archives: फ़रवरी 2016

मूल प्रतिरोध और स्वचालित धरातल

मूल प्रतिरोध, जिससे जीवन चलायमान रहता है, को देख कर, जान कर आप मूल धरातल को छू लेते हैं| मन इस प्रतिरोध को टाल कर प्रसन्न होता रहता है| टालना, यह सोच कर होता है- अभी विवशता है, कल सब … पढना जारी रखे

psycho spiritual में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

आपका साहस पूर्ण कदम किसी भी परिस्थिति में सहज रहना है

आपका कार्य किसी कठिन काम को करना या उलझन भरी समस्या को सुलझाना नहीं है| आपका साहस पूर्ण कदम किसी भी परिस्थिति में सहज रहना है| आप निश्चयात्मक रूप से सहज हो जाते हैं जब आप यह देख लेते हैं … पढना जारी रखे

psycho spiritual में प्रकाशित किया गया | Tagged , , | टिप्पणी करे