Monthly Archives: सितम्बर 2017

तलाश, प्रसन्नता और बहकावा

आप सोचते हैं कि जैसे कोई और या कोई गुरु आदि मानसिक रूप से सुरक्षित, संतुष्ट, प्रसन्न रह रहे हैं और आप असंतुष्ट, असुरक्षित और अप्रसन्न तरीके से रह रहे हैं| —– Advertisements

psycho spiritual में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे