सभी संभावनाएं और प्रतिरोध

हम समझते हैं जैसे कि वस्तुओं की अधिकता से, संबंधों के द्वारा, धार्मिक-आध्यात्मिक विचारों से, भगवान इत्यादि के विचारों के द्वारा स्थिरता पाई जा सकती है, या स्थिर आराम पाया जा सकता है- अगर अभी नहीं तो भविष्य में।

यह तलाश ह्में प्रतीक्षा में रखती है – हम पूर्ण अनुभव या प्रसन्नता को नहीं छू पाते।

ह्म नहीं देख पाते कि हम असमंजस, भय, अनिश्चितता से अपने आपको बचा रहे हैं। मन प्रतिरोध के द्वारा कार्य करता है – ‘यह नहीं जान सकता, यह नियंत्रित नहीं कर सकता’। यह देखना आपको पूर्ण शांति से मिला देता है – सभी संभावनाओं से मिला देता है। जीवन के बारे में सभी प्रश्न गिर जाते हैं।

अब आप स्वचालित धरातल पर आ जाते हो जहां अनिश्चितता, इच्छा आपकी इच्छा की पूर्ति, निश्चितता को प्रतिरोध प्रदान करते हैं|

Slide 41

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

w

Connecting to %s